सर्दियों में शिशु के कमरे में रात भर हीटर चलाना कितना सही है, जानें एक्सपर्ट से


<p style="text-align: left;">सर्दियों के मौसम में जब पारा गिरता है, हमारा पहला काम होता है अपने घरों को गर्म रखना ताकि ठंड से बचा जा सके. खास कर उनके घर में और हीटर या ब्लोअर का इस्तेमाल होता है जिनके घरों में छोटे बच्चे हैं. खासकर जब हम नए – नए पेरंट्स बनते हैं तो सभी लोग कहते हैं कि बच्चे की पहली सर्दी ज्यादा लगती है उन्हें बचाना बहुत जरूरी है ऐसे में ठंड से बचाने के लिए रात-दिन हीटर का इस्तेमाल करने लगते हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं हीटर का इस्तेमाल कितना करना चाहिए ज्यादा करना सही है या गलत आइए जानते हैं एक्सपर्ट के अनुसार..</p>
<p class="whitespace-pre-wrap" style="text-align: left;"><strong>शिशु के कमरे में सही तापमान होना&nbsp;<br /></strong>सर्दियों में शिशु के कमरे में हीटर का प्रयोग गर्मी पैदा करने के लिए किया जाता है. लेकिन यह ध्यान रखना जरूरी है कि कमरे का तापमान बहुत अधिक ना हों. कमरे का तापमान 25-28 डिग्री सेल्सियस के बीच होना चाहिए.अगर कमरे का तापमान बहुत ज्यादा होगा तो शिशु को पसीना आना, उल्टी-दस्त जैसी समस्याएं हो सकती हैं. यह उसके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है. इसलिए शिशु के कमरे का तापमान सही स्तर पर रखना बहुत जरूरी हो जाता है. हमें इस बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए.&nbsp;</p>
<p class="whitespace-pre-wrap" style="text-align: left;"><strong>नमी का ध्यान रखें<br /></strong>हीटर के कारण कमरे की नमी कम हो जाती है. यदि बच्चों के कमरे में नमी कम हो जाती है तो उनकी सांस के लिए परेशानी हो सकती है. सूखी हवा के कारण बच्चों की नाक और गले में खराश आ सकती है. इससे बचने के लिए कमरे में ह्यूमिडिफायर का प्रयोग करना चाहिए.ह्यूमिडिफायर एक ऐसा उपकरण होता है जो कमरे में नमी बनाए रखने में मदद करता है. यह पानी की वाष्प उत्पन्न करके कमरे की हवा को नम बनाता है. इसके अलावा, आप बच्चे के कमरे में कुछ पौधे भी रख सकते हैं जो हवा में नमी को बनाए रखेंगे.&nbsp;इस प्रकार, ह्यूमिडिफायर और कमरे में हरी पौधों की मदद से आप अपने बच्चे के कमरे की नमी का ध्यान रख सकते हैं. यह बच्चे के स्वस्थ विकास के लिए बेहद जरूरी है.&nbsp;</p>
<p class="whitespace-pre-wrap" style="text-align: left;"><strong>सीधी गर्मी से बचाव<br /></strong>हीटर से निकलने वाली सीधी गर्म हवा, शिशु के शरीर के लिए हानिकारक हो सकती है. अगर हीटर बच्चे के बिस्तर या क्रैडल के बहुत नजदीक होगा तो उसपर गर्म हवा सीधे पड़ेगी.इससे बच्चे को जलन या त्वचा संबंधी समस्याएं हो सकती हैं. इसलिए हीटर को बच्चे से कुछ दूरी पर ही रखना चाहिए, ताकि कमरे में गर्मी समान रूप से फैले.&nbsp;</p>
<p class="whitespace-pre-wrap" style="text-align: left;"><strong>बीच-बीच में बंद करते रहें&nbsp;<br /></strong>रातभर हीटर को लगातार चलाने की बजाए, ये बेहतर होगा कि आप कुछ समय के लिए बंद करके फिर चालू करें. ताकि रूम का तापमान सही बना रहें&nbsp;</p>
<div class="flex gap-0.5 -mx-1 -mt-2 text-text-400 justify-between items-stretch">
<div class="flex gap-0.5" style="text-align: left;"><strong>ये भी पढ़ें:&nbsp;</strong><strong><a title="लंबे वक्त से क्रोनिक किडनी की बीमारी से पीड़ित थे मुनव्वर राना, जानिए इसके शुरुआती लक्षण" href="https://www.abplive.com/lifestyle/health/munawwar-rana-renowned-urdu-poet-dies-at-71-due-to-cardiac-arrest-2585888/amp" target="_self">लंबे वक्त से क्रोनिक किडनी की बीमारी से पीड़ित थे मुनव्वर राना, जानिए इसके शुरुआती लक्षण</a></strong></div>
</div>

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *